आज मुख्मंत्री जयराम ठाकुर ज़िला किन्नौर के कल्पा मेें श्याम सरण नेगी के परिजनों से मिलें, जिनका देहान्त 105 साल की आयु में पिछले शनिवार 05 नवंबर 2022 को हुआ।

IBEX NEWS, शिमला।

आज मुख्मंत्री जयराम ठाकुर ज़िला किन्नौर के कल्पा मेें श्याम सरण नेगी के परिजनों से मिलें, जिनका देहान्त 105 साल की आयु में पिछले शनिवार 05 नवंबर 2022 को हुआ।

श्याम सरन नेगी को भारत के पहले मतदाता होने का गौरव प्राप्त था। श्याम सरन नेगी, जिनका जन्म 1 जुलाई 1917 को हुआ था वह आज़ाद भारत के पहले मतदाता थे। वह हिमाचल प्रदेश के कल्पा ज़िला किन्नौर में जन्में और एक सेवानिवृत स्कूल शिक्षक थे।

उन्होंने 1951 के आम उपचुनाव में पहला वोट डाला था। स्वर्गीय नेगी ने स्वतंत्र
भारत का अपना पहला वोट 25 अक्टूबर 1951 को डाला।
उन्हें चुनाव आयोग ने अपने सिस्टमेटिक वोटर एजुकेशन एंड इलेक्टोरल पार्टिसिपेशन अभियान के लिए ब्रांड एंबेसडर के रूप में नामित किया था।
उन्होंने अपने जीवन को वोटर अवेयरनेस के लिए समर्पित किया और जागरूकता के लिए बहुत अभियान चलाए जो भारत के लोकतंत्र को मजबूत करने की लिए अहम साबित हुए ।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने श्याम सरन नेगी के घर जाकर उनके परिजनों से नेगी जी के निधन पर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की और उनके निधन पर दुःख जताया और मुख्यमंत्री ने श्रद्धासुमन अर्पित किए।